उच्च शिक्षा जगत और उद्योग जगत के बीच मजबूत साझेदारी जरूरी- राष्ट्रपति

नई दिल्ली| विकास में उच्च शिक्षा की अहम भूमिका पर जोर देते हुए राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने उद्योग और उच्च शिक्षा क्षेत्र के बीच मजबूत भागीदारी का आह्वान किया। राष्ट्रपति भवन के एक बयान में गुरुवार को इसकी जानकारी दी गई। इसमें कहा गया है कि उच्च शिक्षा की राष्ट्रीय विकास में महत्वपूर्ण भूमिका है।

president-pranab-mukherjee-will-inaugurate-the-habitat-houses

राष्ट्रपति मुखर्जी ने बुधवार को राष्ट्रपति भवन में विजिटर्स कांफ्रेंस में कहा, “उद्योग क्षेत्र की वृद्धि कई महत्वपूर्ण तरीकों से उच्च शिक्षा पर निर्भर है। इसलिए यह उद्योग और उच्च शिक्षा के लिए जरूरी है कि वह एक लाभप्रद ढांचे में परस्पर मिलकर कार्य करें।”

उन्होंने कहा, “इन दो प्रमुख क्षेत्रों में मजबूत सहयोग पूरी अर्थव्यवस्था के लिए सकारात्मक होगा। उच्च शिक्षा व्यवस्था में क्या पढ़ाया और शोध किया जाता है, इसका प्रयोग औद्योगिक क्षेत्र में जरूर होना चाहिए। “मुखर्जी ने उद्योग और शिक्षा संस्थानों के बीच शोध सहयोग को दोनों के लिए महत्वपूर्ण बताया।

राष्ट्रपति भवन में बुधवार को शुरू हुई तीन दिवसीय विजिटर्स कांफ्रेंस के पहले दिन केंद्रीय संस्थानों और औद्योगिक संगठनों के बीच 67 समझौता ज्ञापनों (एमओयू) का आदान-प्रदान किया गया।