जंगल सफारी का सफर पड़ेगा जेब पर ‘भारी’

रायपुर। छत्तीसगढ़ के नया रायपुर में बना मानव निर्मित जंगल सफारी पर्यटकों के लिए 6 नवंबर को खोल दिया जाएगा। जंगल सफारी के लिए पार्किंग सहित अन्य शुल्क निर्धारित कर दिए गए हैं। नंदन वन के मुकाबले जंगल सफारी का सफर भारी यानी काफी महंगा होगा। नंदन वन में जहां 20 रुपये शुल्क के साथ पर्यटक प्रवेश ले सकते थे, वहीं जंगल सफारी के लिए नॉन एसी गाड़ियों के लिए 200 रुपये शुल्क देना होगा। सफारी भ्रमण सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक होगा। टिकट जंगल सफारी काउंटर से लिया जाएगा। यहां प्रत्येक सोमवार को अवकाश रहेगा।

%e0%a4%b0%e0%a4%b9%e0%a4%b2%e0%a5%81%e0%a4%a4%e0%a4%be-%e0%a5%87%e0%a5%8b%e0%a4%bf%e0%a5%8b%e0%a5%80%e0%a4%97
वन विभाग ने जंगल सफारी के लिए जो शुल्क निर्धारित किया है, इसके अनुसार, प्रति व्यक्ति नॉन एसी गाड़ियों के लिए 200, एसी गाड़ी के लिए 300, 6 से 12 वर्ष तक के बच्चों को नॉन एसी गाड़ी के लिए 50 रुपये और एसी गाड़ी के लिए 100 देने होंगे। हां, छह वर्ष से कम उम्र के बच्चों से कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा। इसी तरह विदेशी पर्यटकों से नॉन एसी गाड़ी के लिए 500 और एसी गाड़ी के लिए 1000 हजार रुपये, विदेशी (अवयस्क) से नॉन एसी गाड़ी के लिए 400 और एसी गाड़ी के लिए 800 रुपये लेना निर्धारित किया गया है।

जंगल सफारी में फोटोग्राफी के लिए स्टिल कैमरा/डिजिटल कैमरा 100 रुपये शुल्क, हैंडीकैम/वीडियो कैमरा (साधारण) के लिए 500 और व्यावसायिक वीडियो कैमरा के लिए सशुल्क अनुमति लेनी होगी। वहीं बड़े वाहनों बस, मिनी बस के लिए 100 रुपये, कार-जीप (हल्के वाहनों) के लिए 50 रुपये, ऑटो रिक्शा 30 रुपये, मोटरसाइकिल 20 और 10 रुपये साइकिल पार्किं ग के लिए शुल्क निर्धारित किया गया है।