प्रधानमंत्री के दौरे के लिए तैनात पुलिसकर्मी ने की खुदकुशी

हैदराबाद| हैदराबाद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दौरे के लिए सुरक्षा इंतजामों के तहत तैनात एक पुलिस उपनिरीक्षक ने शनिवार को गोली मारकर खुदकुशी कर ली। उप निरीक्षक ने पीवीएनआर एक्सप्रेसवे के नजदीक मिलारदेवपल्ली स्थित एक अपार्टमेंट में खुदकुशी कर ली। यह स्थान एसवीपी राष्ट्रीय पुलिस अकादमी से केवल दो किलोमीटर दूर है, जहां मोदी देश के शीर्ष पुलिस अधिकारियों के वार्षिक सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे।

modi-ji

श्रीधर ने अपने सर्विस रिवॉल्वर से नवनिर्मित हैप्पी होम्स अपार्टमेंट की 19वीं मंजिल पर गोली मारकर खुदकुशी कर ली। वह उन पुलिसकर्मियों में शामिल था, जिनकी तैनाती पुलिस अकादमी के आसपास की ऊंची इमारतों में सुरक्षा के मद्देनजर की गई थी। वारंगल जिले से ताल्लुक रखने वाले युवा पुलिस अधिकारी को प्रधानमंत्री के दो दिवसीय दौरे के मद्देनजर सुरक्षा इंतजामों के लिए हैदराबाद बुलाया गया था। एक अन्य पुलिस उप निरीक्षक जब शनिवार सुबह श्रीधर को कार्य मुक्त (रिलीव) करने आया तो उसने उसे खून से लथपथ पाया।

पुलिस के अनुसार, श्रीधर ने अपने हृदय में गोली मारी, जिससे उसकी तुरंत मौत हो गई थी। पुलिस के अनुसार, वे आत्महत्या के कारणों की जांच कर रहे हैं। एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि शुरुआती जांच से पता चलता है कि श्रीधर में प्रेम में विफलता हाथ लगने के कारण यह चरम कदम उठाया। बताया जाता है कि श्रीधर को असिफाबाद जिले में होम गार्ड के रूप में काम कर रही एक महिला से प्यार हो गया था। वह उससे शादी करना चाहता था, लेकिन श्रीधर के परिजन इसका विरोध कर रहे थे।

श्रीधर असिफाबाद जिले के चिंतालामनेपल्ली पुलिस थाने में उपनिरीक्षक के रूप में कार्यरत था। वह जिले के चार उपनिरीक्षकों में शामिल था, जिन्हें प्रधानमंत्री के दो दिवसीय दौरे के दौरान ड्यूटी के लिए बुलाया गया था। चूंकि ये उपनिरीक्षक 23 नवंबर की देर शाम पहुंचे थे, इसलिए उच्चाधिकारियों ने उनकी ड्यूटी नहीं लगाई थी। अगले दिन इन लोगों को विभिन्न जगहों पर तैनात किया गया था। मोदी विभिन्न राज्यों के पुलिस महानिदेशकों व पुलिस महानिरीक्षकों तथा केंद्रीय अर्धसैनिक बलों के प्रमुखों को संबोधित कर रहे थे। वह रात में पुलिस अकादमी में रुके थे।