सुविधा के हिसाब से संघ की शिक्षा को चुनते हैं पर्रिकर : वेलिंगकर

पणजी। राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ (आरएसएस) के बागी नेता सुभाष वेलिंगकर ने मंगलवार को रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर पर आरोप लगाते हुए कहा कि वह आरएसएस की सीख को अपनी सुविधा और समय के अनुसार चुनते हैं। वेलिंगकर ने कहा कि यदि गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री (पर्रिकर) सही मायने में संघ के मूल्यों का ध्यान रखते हैं तो उन्हें अंग्रेजी माध्यम के प्राथमिक स्कूलों का सरकारी अनुदान रद्द करा देना चाहिए।

manohar-parrikar

वेलिंगकर ने आईएएनएस से कहा, ष्यदि पर्रिकर संघ की सीख में विश्वास करते हैं तो उन्हें पहले सुनिश्चित करना चाहिए कि अंग्रेजी माध्यम के स्कूलों को सरकारी अनुदान रद्द की जाए। पर्रिकर ने सोमवार को अहमदाबाद के निरमा विश्वविद्यालय में एक कार्यक्रम में कहा, ष्प्रधानमंत्री (नरेंद्र मोदी) महात्मा गांधी के गृह राज्य के निवासी हैं और रक्षा मंत्री (खुद पर्रिकर) गोवा से हैं जो कभी एक श्मार्शल रेसश् नहीं रहा है। फिर भी यह सर्जिकल स्ट्राइक हुई। यह एक अलग तरह का संयोजन है। शायद इसके मूल में आरएसएस की शिक्षा रही है।ष्

वेलिंगकर को इस साल अगस्त में संघ से बर्खास्त कर दिया गया था। इसके बाद उन्होंने दोबारा पर्रिकर और गोवा में भारतीय जनता पार्टी पर आरएसएस की शिक्षाओं से हटने और अंग्रेजी माध्यम के प्राथिमक स्कूलों को अनुमति देकर क्षेत्रीय भाषाओं से धोखा करने का आरोप लगाया। इनमें से ज्यादातर स्कूल राज्य के रोमन कैथोलिक चर्च द्वारा चलाए जाते हैं।पर्रिकर ने एक कैबिनेट फैसले के तहत 2012 में राज्य के शिक्षा मंत्रालय के वित्तीय अनुदान को अंग्रेजी माध्यम के प्राइमरी स्कूलों को जारी रखने की अनुमति दी थी