नोटबंदी: येचुरी ने फ्रांस की महारानी से की मोदी की तुलना

नई दिल्ली। मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के राज्यसभा सांसद सीताराम येचुरी ने बुधवार को नोटबंदी के केंद्र सरकार के फैसले की आलोचना की और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तुलना फ्रांस की महारानी मैरी एंटोइनेट्टे से कर डाली। माकपा के महासचिव सीताराम येचुरी ने राज्यसभा में कहा, “केंद्र सरकार के इस फैसले ने मुझे फ्रांस की मशहूर क्रांति के उस वाकये की याद दिला दी जब फ्रांस की महारानी ने कहा था कि अगर जनता के पास खाने के लिए रोटी नहीं है तो वे केक क्यों नहीं खाते। अब हमारे पास मोदी एंटोइनेट्टे हैं जो कह रहे हैं कि ‘आपके पास कागज (नोट) नहीं हैं तो प्लास्टिक (डेबिट/क्रेडिट कार्ड) का इस्तेमाल कीजिए’।”

sitaran-yechuri

उन्होंने कहा, “देश में कितने लोगों के पास ये प्लास्टिक के कार्ड हैं? देश की 130 करोड़ की आबादी में सिर्फ 2.6 करोड़ लोगों के पास इस तरह के कार्ड हैं। क्या इससे हमारी अर्थव्यवस्था चल सकेगी? देश की 80 फीसदी से अधिक अर्थिक गतिविधियां नकद के रूप में होती हैं।”

येचुरी ने आगे कहा, “नोटबंदी के पक्ष में प्रधानमंत्री द्वारा दिए गए एक भी कारण तर्कसंगत नहीं हैं, चाहे नकली नोटों से आतंकवादियों को मिलने वाली मदद का मामला हो, काले धन की बात हो या नकली नोट और भ्रष्टाचार की बात हो।”

उन्होंने कहा कि किसान धान न बिकने से परेशान हैं और औने-पौने दामों पर बेचने के लिए मजबूर हो रहे हैं। उन्होंने कहा, “किसान 200 से 250 रुपये प्रति क्विंटल की दर पर धान बेच रहे हैं। अगर इसे मजबूरी में बेचना नहीं कहेंगे तो किसे कहेंगे?”