मणिपुर : विस्फोट, विरोध के कारण मुख्यमंत्री अस्पताल का उद्घाटन नहीं कर पाए

इंफाल| मणिपुर के मुख्यमंत्री ओकराम इबोबी सिंह जनजाति समुदाय के लोगों के विरोध-प्रदर्शन के कारण सोमवार को उखरूल कस्बे में एक जिला अस्पताल का उद्घाटन नहीं कर पाए। जनजातियों ने मुख्यमंत्री के काफिले को हेलीपैड से आगे बढ़ने नहीं दिया। मुख्यमंत्री का हेलीकॉप्टर सुबह 9.30 बजे हेलीपैड पर उतरा, जिसके बाद उद्घाटन के लिए लोगों के जुटने का वह एक घंटे तक इंतजार करते रहे। लेकिन किसी के नहीं आने पर प्रदेश की राजधानी लौट गए।

सुरक्षा कारणों से भी इबोबी सिंह उखरूल में एक घंटे से अधिक वक्त तक नहीं ठहर पाए। म्यांमार से लगी सीमा के पास सोमवार सुबह एक बम विस्फोट हुआ, जिसमें एक पुलिसकर्मी घायल हो गया। इस घटना में उस इमारत का कुछ हिस्सा भी क्षतिग्रस्त हो गया, जहां मुख्यमंत्री बोलने वाले थे। इलाके में गोलीबारी में एक अन्य सुरक्षाकर्मी घायल हो गया।उखरूल में विरोध-प्रदर्शन कर रहे जनजाति समुदाय के लोगों ने इबोबी सिंह व उनके समर्थकों को हेलीपैड से हुंडुंग नहीं जाने दिया, जहां वह एक जिला अस्पताल तथा एक बिजली उप केंद्र सहित कुछ अन्य परियोजनाओं का उद्घाटन करने वाले थे।

cm

राज्य में जनवरी में होने वाले विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखकर इबोबी राज्य में कई परियोजनाओं का उद्घाटन करने में लगे हैं। उखरूल में तांगखुल नागा लॉन्ग समूह हुंडुंग में 100 बिस्तरों वाले अस्पताल के अर्धनिर्मित होने से खुश नहीं है। जनता द्वारा घोषित कर्फ्यू के मद्देनजर, समूह द्वारा मुख्यमंत्री से अर्धनिर्मित अस्पताल का उद्घाटन न करने की अपील का इबोबी द्वारा तवज्जो न दिए जाने पर समूह के लोगों ने मुख्यमंत्री का रास्ता रोकने का फैसला किया था।

जब इबोबी सिंह उखरूल में हेलीकॉप्टर से उतरे, तब पूरा शहर बंद था। हुंडुंग जाने वाली सड़क पर कई लोग धरने पर बैठे थे, जिसके कारण मुख्यमंत्री का सड़क से गुजरना नामुमकिन था।कुछ महीने पहले जनजाति समुदाय के लोगों ने चुड़ाचांदपुर में तब सड़क मार्ग को अवरुद्ध कर दिया था, जब इबोबी सिंह तथा अन्य मंत्री वहां विद्युत उपकेंद्रों का उद्घाटन करने पहुंचे थे।

सूत्रों ने कहा कि लोगों के विरोध व निर्माणाधीन अस्पताल के मद्देनजर उसका उद्घाटन नहीं किया जा सकता। मणिपुर में चूंकि जनवरी में चुनाव होने वाले हैं, इसलिए निर्वाचन आयोग जल्द ही चुनाव आचार संहिता लागू कर सकती है।सोमवार को अपराह्न 12.30 बजे हुए बम विस्फोट में इंडियन रिजर्व बटालियन का एक जवान घायल हो गया। घटना में वह इमारत आशिंक रूप से क्षतिग्रस्त हो गई, जिसमें मुख्यमंत्री लोगों को संबोधित करने वाले थे।मुख्यमंत्री को उद्घाटन स्थल तक पहुंचने से रोकने के लिए स्नाइपर राइफल से की गई गोलीबारी में 6 मीरपुर राइफल्स का एक जवान घायल हो गया।बम विस्फोट व स्नाइपर राइफल से गोलीबारी की अभी तक किसी भी समूह ने जिम्मेदारी नहीं ली है।