नोटबंदी का असरः बैंको में वेतन के लिए लंबी लाइनें

नई दिल्ली। नोटबंदी की आठ नवंबर की घोषणा के बाद अपने पहले वेतन के लिए राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली और आसपास के क्षेत्रों में बैंकों तथा एटीएम बूथों के बाहर गुरुवार सुबह से ही लोगों की लंबी कतार लग गई। लोगों ने एटीएम में रुपये नहीं होने और बैंकों में लंबे इंतजार के बाद भी कम रुपये देने की शिकायत की। उन्होंने कई एटीएम के काम नहीं करने की भी शिकायत की। पूर्वी दिल्ली के लक्ष्मी नगर में सैकड़ों लोग नकदी के लिए एटीएम की कतार में दिखे। यहां सिर्फ तीन मशीनों से ही रुपये निकल रहे थे।

bank-lins

पूर्वी दिल्ली के ही दिलशाद गार्डन में कई एटीएम खाली पड़े रहे। इलाके के पांच बैंकों के बाहर भीड़ देखी गई। दिल्ली के नजदीक नोएडा निवासी शिव कुमार सेक्टर 18 में आईसीआईसीआई बैंक की शाखा खुलने से पहले ही बाहर कतार में लग गए। उन्होंने कहा, हालांकि निकासी की सीमा 24,000 रुपये है, लेकिन बैंक केवल 5,000 रुपये ही दे रहे हैं। मैं यहां पिछले तीन घंटे से खड़ा हूं।

दक्षिण दिल्ली के खिड़की एक्सटेंशन में भी लोग बैंक खुलने से पहले ही उसके बाहर खड़े होने लगे। यहां एटीएम बूथ के बाहर भी लंबी कतार देखी गई। खिड़की एक्सटेंशन में एक एटीएम के बाहर कतार में लगी कॉल सेंटर कर्मी नंदिनी गुप्ता ने कहा, मुझे अपने मकान मालिक, नौकरानी, अखबार वाले और दूसरे लोगों को भुगतान करना है। मैं आश्वस्त नहीं हूं कि मुझे नकदी मिल ही जाएगा, क्योंकि यह रकम डाले जाने के बाद एक घंटे के भीतर खाली हो जाती है। दिल्ली के कनॉट प्लेस में भी एटीएम के बाहर ऐसा ही नजारा रहा।