पोस्टरों ने किया पाकिस्तान को बेनकाब, उरी हमले के पीछे लश्कर का हाथ

चंडीगढ़। उरी हमले को लेकर पाकिस्तान के दावे की पोल खुल गई है। हमले के बाद पाकिस्तान का दावा था कि उरी हमले में उसका कोई हाथ नही हैं पर हाल के ही दिनों में पंजाब के गुजरावाला में लगे पोस्टरों ने एकबार फिर से पाकिस्तान की पोल खोल दी है। शहर में लग ये पोस्टर साफ कर रहे है कि हमले के पीछे लश्कर का ही हाथ था। लगे पोस्टरों में यह साफ लिखा हुआ है कि लश्कर-ए-तैयबा उरी हमले में मारे गए 4 आतंकियों में से एक की अंतिम यात्रा निकालेगी। इससे पाके के करतूतों से एकबार फिर से पर्दा हट गया है।
postres

यहां आपको बता दें कि उरी हमले में देश के 19 जवान शहीद हुए थे, हमले के बाद से ही पाकिस्तान का दोहरा चरित्र रहा है और वह कहता रहा है कि भारत उसपर बिना सबूत के आरोप लगा रहा है। पंजाब में लगे इन पोस्टरों ने पाकिस्तान को एकबार फिर से बेनकाब कर दिया है। पोस्टरों में लिखा है कि उरी हमले में सेना द्वारा मारे गए 4 में से 1 आतंकी की शव यात्रा निकाली जाएगी। पोस्टर में एक अपराधी का भी नाम दिया गया है , जिसका नाम मो अनस बताया जा रहा है, वह पंजाब के गुजरांवाला का ही निवासी बताया जा रहा है। पोस्टर में इस अपराधी के लिए किए जाने वाले नमाज में लोगों को शामिल होने की भी अपील की जा रही है।

पंजाब में लगे इन पोस्टरों में यह भी लिखा गया है कि आतंकी अनस लश्कर का शेर दिल जांबाज था, जिसने बहादुरी का परिचय देते हुए करीब 177 हिंदुओं को नर्क में भेजा। इसके साथ ही यह भी लिखा है कि अनस के अंतिम संस्कार के दौरान आतंकी सरगना हाफिज सईद होने वाले प्रार्थना में शामिल होगा। पाकिस्तान के इस नापाक चाल ने उसे दुनिया से अलग थलग तो कर ही दिया है पर पाक को अब भी यह समझ नहीं आ रहा है। उरी हमले ने भारतीय सेना के जाबांजों ने अपने जान की बाजी लगा दी थी।