देश में 2-3 वर्षो में हवाईअड्डे दोगुने हो जाएंगे : जयंत सिन्हा

चेन्नई| केंद्रीय नागरिक उड्डयन राज्य मंत्री जयंत सिन्हा ने कहा है कि सरकार की योजना अगले दो-तीन सालों में देश में हवाईअड्डों की संख्या दोगुनी करने की है। मंत्री ने यह बात शनिवार को अयोजित तीसरे जी. रामचंद्रन स्मारक व्याख्यान के दौरान कही। उन्होंने कहा, “हमारी पार्टी ने अपने 2014 के चुनावी घोषणा पत्र में उड़ान (उड़े देश का आम नागरिक) योजना की घोषणा की थी। इसके तहत हम हवाईअड्डों का विस्तार करेंगे।

jayant-sinha

साउदर्न इंडिया चैम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (एसआईसीसीआई) द्वारा आयोजित कार्यक्रम में सिन्हा ने कहा, “सच्चाई यह है कि हमारे पास इस समय 75 हवाईअड्डे हैं, जो सेवाएं दे रहे हैं। हमारी योजना अगले दो-तीन सालों में इसे दोगुना करने की है। इस साल के शुरुआत में, हवाई यात्रा को अधिक किफायती बनाने के कदम के तौर पर सरकार ने एक मसौदा उड़ान योजना जारी किया था। इसके तहत एक घंटे की उड़ान के लिए कुल किराया 2,500 रुपये रखा गया था।सिन्हा ने कहा कि इस योजना का मकसद अल्पविकसित क्षेत्रीय मार्गो को विकसित करना है।

उन्होंने कहा कि सरकार उड़ान योजना से करीब 400 करोड़ रुपये जुटाएगी। मंत्री ने कहा कि सरकार ने हवाई कंपनियों से दूसरे प्रमुख हवाईअड्डों से जोड़ने वाले रास्तों के लिए निविदा देने को कहा है।उन्होंने कहा, “इन निविदाओं का निर्णय जनवरी 2017 में हो जाएगा। हम पूरी तरह एक नया क्षेत्रीय बाजार बनाएंगे।

उन्होंने कहा कि हर साल 13 करोड़ लोगों के वातानुकूलित रेल डिब्बों में यात्रा करने की तुलना में 14 करोड़ लोग उड़ान भरेंगे। भारत में बीते 10 सालों में यात्रियों की औसत वृद्धि करीब 10-11 प्रतिशत हुई है।