प्रदर्शन अच्छा हो तो रैंकिंग खुद चली आती है: कोहली

बेंगलुरु। वेस्टइंडीज दौरे से ठीक पहले भारतीय टेस्ट टीम के कप्तान विराट कोहली ने सोमवार को कहा कि टीम का प्रदर्शन उसकी रैंकिंग से कहीं अहम है। भारतीय टीम 21 जुलाई से चार मैचों की टेस्ट श्रृंखला के लिए वेस्टइंडीज जाएगी।

Kohli

भारत इस दौरे पर यदि कैरेबियाई टीम को 4-0 से हराने में कामयाब हो जाता है तो अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) टेस्ट टीम रैंकिंग में वह शीर्ष पर पहुंच जाएगा। कोहली ने कहा कि दौरे पर भारतीय टीम का पूरा ध्यान अच्छा प्रदर्शन करने पर होगा और अगर ऐसा होता है तो रैंकिंग अपने आप ही सुधर जाएगी।

वेस्टइंडीज रवाना होने से पहले कोहली ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा, “हमारा लक्ष्य टेस्ट रैंकिंग में नंबर वन बनना नहीं है। मुझे नहीं लगता कि कोई टीम सिर्फ रैंकिंग के लिए खेलती है। सभी का मुख्य लक्ष्य अच्छी क्रिकेट खेलना होता है। यहां तक कि यदि आप सर्वोच्च वरीय टीम हैं और लंबे समय तक नहीं खेलते हैं तो आप बिना खेले ही दूसरे पायदान पर फिसल जाएंगे और यह ऐसी बात है जिस पर आपका नियंत्रण नहीं होता।”

कोहली ने कहा, “आपका इस पर कोई नियंत्रण नहीं होता। हम सिर्फ अपने खेल की गुणवत्ता पर नियंत्रण रख सकते हैं। रैंकिंग तो अच्छे प्रदर्शन के साथ स्वत: चली आती है। यह अच्छे प्रदर्शन के लिए मिलने वाला तोहफा होता है और हम उसकी खुशी मना सकते हैं।”

कोहली ने कैरेबियाई दौरे पर टीम की रणनीति को लेकर कहा, “हम एक बार में एक मैच पर अपनी रणनीति को क्रियान्वित करने पर अपना ध्यान केंद्रित करेंगे। आगामी सत्र काफी लंबा है जो हमारे लिए लय हासिल करने में मददगार होगा। इससे पहले दो टेस्ट मैच खेलने को मिलते थे और फिर छह महीने कोई खेल नहीं, तो उसमें लय नहीं बन पाती थी।”

भारतीय टीम को आगामी सत्र में 17 टेस्ट मैच खेलने हैं और कोहली का कहना है कि यह एक स्थिर टेस्ट टीम हासिल करने का सबसे मुफीद अवसर है।

(आईएएनएस)