आखिर खुद को नहीं रोक सके पीएम मोदी, वैशाली से की मुलाकात

पुणे/नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज पुणे में 6 साल कि बच्ची वैशाली से मिलने पहुंचे, यह वही वैशाली है जिसने एक ऐसा पत्र लिखा, जिसने पीएम का ना केवल ध्यानाकर्षण किया, बल्कि पीएम को उससे मिलने के लिए मजबूर भी कर दिया।

दरअसल पुणे की रहने वाली 6 साल की वैशाली के हार्ट में छेद था। उसके पिता पेंटर का काम करते हैं। फाइनेंशियल कंडीशन अच्छी नहीं होने के कारण वो उसके ऑपरेशन के लिए पैसे नहीं जुटा पा रहे थे। यह बीमारी वैशाली को लगभग ढाई साल से थी। वैशाली को इस बीमारी से बाहर निकालने के लिए ऑपरेशन का खर्चा लगभग 3 लाख रुपए बताया गया था।

VAISHALI

इसके बाद, वैशाली ने पीएम को पत्र लिखकर मदद की गुहार लगाई थी। पत्र लिखने के महज 5 दिन बाद पीएम मोदी की ओर से वैशाली को जवाब मिला। इतना ही नहीं, पीएम मोदी की तरफ से स्थानीय अधिकारियों को तत्काल मदद करने का भी आदेश दिया गया। जिसका नतीजा यह निकला की वैशाली के दिल का तुरंत ऑपरेशन हो गया। वैशाली का ऑपरेशन पूरी तरह सफल रहा।

MODI

यूं तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का बच्चों के प्रति लगाव सुर्खियां में रहता है। ‘मन की बात’ में अकसर पीएम मोदी बच्चों के शैक्षणिक विकास पर जोर देते रहे हैं, लेकिन इस बार वैशाली का यह मामला कुछ खास रहा है।