समाज के लिए हिंदू- मुस्लिम परिवारजनों ने कायम की मिसाल

जयपुर। समाज में जहां एक तरफ जातीय विवाद और कलह की भावना ने लोगों के बीच दूरियां पैदा कर दी हैं वहीं दूसरी ओर राजस्थान के जयपुर में जातीय विषयों से उठकर सामाजिक प्रेम और भाईचारे की  मिसाल देने वाली एक घटना सामने आई है। सूत्रों के हवाले से प्राप्त जानकारी के अनुसार जयपुर के एक प्राइवेट अस्पताल में एक हिंदू और एक मुस्लिम बिरादरी के लोगों ने एक दूसरे की पत्नियों के लिए अपने-अपने किडनी दान किये हैं।

40 साल के अनवर अहमद को बकरीद पर इससे बेहतर खुशी नहीं मिल सकती थी। वह अपने घर पर खुशियां लाने के लिए विनोद मेहरा के आभारी हैं, तो खुद मेहरा भी उन्हीं वजहों से अहमद के आभारी हैं।

c05d6e05-d1a3-4a09-9f36-67e263d80c0e
सामाजिक रुप से आपसी मदभेद को दूर करती यह घटना समाज के लिए मिसाल है। किडनी दान करने वाले मुस्लिम परिवार के अहमद ने कहा, ‘विनोद का धन्यवाद, उनकी वजह से ही इस बार बकरीद पर मुझे ज्यादा जोश और उमंग है। उन्होंने मेरी पत्नी के लिए अपनी किडनी दी है। मेरी पत्नी अब ठीक हो रही है।’

वहीं दूसरी तरफ मेहरा भी काफी खुश हैं। वह कहते हैं, अगर यह अहमद के लिए बकरीद है तो मेरे लिए भी यह दिवाली से कम नहीं है। मेरी पत्नी को अहमद भाई की किडनी लगाई गई है। मेरे लिए हिंदू-मुस्लिम भाई-भाई हैं। मेरे मन में कभी भी भेदभाव नहीं रहा और मैं अपनी जीवन में कभी भी भेदभाव नहीं करुंगा। लेकिन ट्रांसप्लांट के बाद हमारा रिश्ता खास हो गया है।