ये उपाय करेंगे आपकी सारी परेशानी को दूर

नई दिल्ली। सर्दी हो या गर्मी हमारे शरीर को किसी भी मौसम में अनुकूल होने के लिए थोड़ा समय लगता है। अक्सर मौसम में परिवर्तन आपको कई सारी बीमारियों के चंगुल में भी फंसा लेता है और हम घबराकर तुरंत डॉक्टर के पास पहुंच जाते है। लेकिन क्या आपको पता है कुछ बीमारियां ऐसी होती है जिनका इलाज करने के लिए आपको किसी डॉक्टर के यहां नहीं बल्कि घरेलू नुस्खे की जानकारी होना जरुरी होती है। जिससे आपके दो फायदे हो सकते है एक तो आप डॉक्टर के यहां चक्कर लगाने से बचेंगे साथ ही साथ किसी भी समय अपनी समस्या से आसानी से निजात पा सकते है। तो चलिए आज हम आपको ऐसे ही कुछ टिप्स देंगे जिसे अपनाकर आप अपना इलाज घर पर ही कर सकते हैं।

health

-अगर आपके सिर में दर्द हो रहा है तो उस समय सेब को छीलकर बारीक काटें और उसमें नमक लगाकर सुबह खाली पेट खाएं।

-स्किन जल गई हो या फिर धूप से उसमे रेशैज पड़ गए हो ऐसे समय में आलू का रस कारगर साबित होता है।

-अक्सर लोग अपने होठों के काले रंग से परेशान रहते है लेकिन अगर आप अपने होठों पर मक्खन के साथ थोड़ा सा केसर मिलाकर लगाएंगे तो आपकी ये समस्या दूर हो जाएगी।

-मुंह से बदबू आना एक आम बात है। बाजार में आने वाले रिफ्रेशमेंट की बजाय घर में मौजूद दाल-चीनी का इस्तेमाल करने से ये बदबू तुरंत चली जाएगी।

-जुखाम में नाक बहना एक आम समस्या है ऐसे समय में युकेलिप्टस का तेल रुमाल में लगाकर सूंघने से आराम मिलेगा।

-सफेद बाल होना एक आम बात है इससे निजात पाने के लिए नहाने से पहले रोजाना प्याज का पेस्ट लगाए अगर बाल सफेद है तो धीरे-धीरे वो काले होने लगेंगे।

-चाय पत्ती के उबले पानी से बाल धोएं, इससे बाल कम गिरेंगे।

-बैंगन के भरते में शहद मिलाकर खाने से नींद ने आने की समस्या से छुटकारा मिलेगा।ऐसा शाम को भोजन में भरता बनाते समय करें।

-गले में खराश होने पर सुबह-सुबह सौंफ चबाने से बंद गला खुल जाता हैं।

-ताजा हरा धनिया मसलकर सूंघने से छींके आना बंद हो जाती हैं।

-प्याज के रस में नींबू का रस मिलाकर पीने से उल्टियां आना बंद हो जाता हैं।

-गैस की तकलीफ से तुरंत राहत पाने के लिए लहसुन की 2 कली छीलकर 2 चम्मच शुद्ध घी के साथ चबाकर खाएं तुरंत आराम होगा।

-मसालेदार खाना आपकी बंद नाक को तुरंत ही खोल देगा।

-आलू का छिलका आपकी त्वचा पर ब्लीच की तरह काम करता है। इसे लगाने से आपकी काली पड़ी त्वचा का रंग सुधरता है। इसलिए आज के बाद आलू के छिलके को फेंके नहीं बल्कि उनका इस्तेमाल करें।