बदलते मौसम में रहें सावाधान…रखें इन बातों का ध्यान

नई दिल्ली। अक्सर ऐसा देखा जाता है कि बदलता मौसम लोगों के लिए खतरनाक साबित होता है। अक्टूबर महीने की शुरुआत से ही मौसम में थोड़ा बदलाव होना शुरु हो जाता है और ये बदलाव अक्टूबर के आखिर या फिर यूं कहे कि दीवाली के बाद से साफ तौर पर देखा जा सकता है। इस बदलते मौसम के चलते ही हम लोग विंटर के सीजन में कदम रखते है। लेकिन अक्सर सीजन में बदलाव आपके लिए किसी खतरे की घंटी से कम नहीं होना। ऐसे समय में हेल्थ को लेकर बरती गई थोड़ी सी भी असावधानी आपको किसी बीमारी की चपेट में ला सकती है। इन्ही सब बीमारियों से किस तरह से बचा जाए इस पर भारत खबर ने फोन पर अपोलो हॉस्पिटल के फिजीशियन सुरजीत त्रिपाठी से बात की। बातचीत के दौरान डॉक्टर त्रिपाठी से सीजनल बीमारियों और उनके बचाव के बारे में कई बाते की जो कि आपकी सेहत के लिए फायदेमंद हो सकती हैं।

health

जानिएं सीजनल बीमारियों के बारे में:-

मौसम के बदलने एक प्राकृतिक क्रम है। लेकिन कभी-कभी मौसम का परिवर्तन आपके लिए एक मुसीबत साबित हो सकता है। ऐसे में कई बीमारियां ऐसी होती है जिनमें सावधानी बरतनें से आप अपना बचाव कर सकते हैं। बदलते मौसम में सबसे ज्यादा कॉमन बीमारी चेस्ट इन्फेक्शन से जुड़ी होती है जिनकी चपेट में आना काफी आसान है। इन बीमारियों में नजला, खांसी, बलगम जैसी इन्फेक्शन का होना आम बात है। लेकिन इन दिनों अस्थमा और सांस से संबंधित दूसरी बीमारियां भी ज्यादा परेशान करती है। धूल, मिट्टी और पॉल्यूशन की वजह से ये बीमारियां काफी तकलीफ दे सकती है। इसलिए अगर आप इस बीमारी से जूझ रहे हो तो भीड़-भाड़ या फिर धूल, मिट्टी के काम को करने से बचें।

cold

मौसम के बदलाव का असर हमारे डाइजेस्टिव सिस्टम पर भी पड़ता है। जिसके कारण लोगों में अक्सर लूज मोशन, डायरिया और वॉमेटिंग जैसी बीमारियों का भी खतरा बढ़ सकता है। लिहाजा इस मौसम में अपने खान-पान का विशेष ध्यान आपको इन बीमारियों से बचा सकता है।

बदलते मौसम में रखें इन बातो का ध्यान:-

– हल्के कपड़े पहनने से बचें।

– ज्यादा से ज्यादा ढके कपड़े पहने।

– एसी और कूलर में सोने से परहेज करे।

– ज्यादा ठंडी चीजें का सेवन न करें।

– अगर आप किसी बीमारी से जूझ रहे है तो अपना खास ध्यान रखें।

– चाय या खाने में अदरक और तुलसी का इस्तेमाल करें।

suranjit-tripathi (सुरजीत त्रिपाठी, फिजीशियन अपोलो हॉस्पिटल)