हरियाणाः सहकारी चीनी मिलों ने गन्ना पिराई मौसम में अब तक 96.13 लाख क्विंटल की पिराई

हरियाणाः सहकारी चीनी मिलों ने गन्ना पिराई मौसम में अब तक 96.13 लाख क्विंटल की पिराई

हरियाणाः सहकारी चीनी मिलों ने चल रहे गन्ना पिराई मौसम के दौरान अब तक 96.13 लाख क्विंटल गन्ने की पिराई की है। इसमें 8.40 लाख क्विंटल चीनी का उत्पादन किया है। गौरतलब है कि हरियाणा राज्य सहकारी चीनी मिल प्रसंघ के एक प्रवक्ता के हवाले से खबर है कि आज जानकारी देते हुए बताया कि शाहाबाद सहकारी चीनी मिल ने सर्वाधिक 17.90 लाख क्विंटल गन्ने की पिराई करके 1.64 लाख क्विंटल चीनी का उत्पादन किया है। जबकि रोहतक सहकारी चीनी मिल ने 15.97 लाख क्विंटल गन्ने की पिराई करके 1.34 लाख क्विंटल चीनी का उत्पादन किया है।

इसे भी पढ़ें-हरियाणाः 5 नगर निगमों और समितियों के लिए हुए चुनाव के मतों की गिनती शुरू, जानें परिणाम

सहकारी चीनी मिल, कैथल ने 10.88 लाख क्विंटल गन्ने की पिराई करके 98,415 क्विंटल चीनी का उत्पादन किया है, जबकि सहकारी चीनी मिल, करनाल ने 10.34 लाख क्विंटल गन्ने की पिराई करके 93,680 क्विंटल चीनी का उत्पादन किया है। इसी प्रकार, सहकारी चीनी मिल, महम ने 10.45 लाख क्विंटल गन्ने की पिराई करके 82,100 क्विंटल चीनी, जबकि सहकारी चीनी मिल, पलवल ने 6.88 लाख क्विंटल गन्ने की पिराई करके 63,730 क्विंटल चीनी का उत्पादन किया है।

इसे बी पढे़ं-हरियाणाः पुलिस ने 1200 पेटी देशी शराब बरामद, एक आरोपी को भी किया गिरफ्तार

गौरतलब है कि सहकारी चीनी मिल,गोहाना ने 6.94 लाख क्विंटल गन्ने की पिराई करके 56,340 क्विंटल चीनी का उत्पादन किया है। सहकारी चीनी मिल, पानीपत ने 6.30 लाख क्विंटल गन्ने की पिराई करके 57,625 क्विंटल चीनी, जबकि सहकारी चीनी मिल, सोनीपत ने 2.15 लाख क्विंटल गन्ने की पिराई करके 14,400 क्विंटल चीनी का उत्पादन किया है। खबर के मुताबिक हैफेड चीनी मिल, असंध ने 11.66 लाख क्विंटल गन्ने की पिराई करके 96,600 क्विंटल चीनी का उत्पादन किया है। बता दें कि प्रदेश की सहकारी चीनी मिलों में अब तक की औसत शुगर रिकवरी 9.27 प्रतिशत रही है।

इसे भी पढ़ें-हरियाणाः राज्यपाल ने CM की सिफारिश पर कुलपति की नियुक्ति अवधि को 3 वर्ष के लिए बढ़ाया