पलायन रोकने के लिए ठोस नीति बनाएगी सरकारः त्रिवेंद्र

देहरादून। सत्ता की कमान संभालते ही रावत सरकार ने काम करना शुरू कर दिया है। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत का कहना है कि सरकार गंगा और गौ सरंक्षण पर काम करेगी। इसके साथ ही राज्य से पलायन रोकने के लिए मजबूत नीति बनाई जाएगी।

एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए त्रिवेंद्र सिंह ने कहा कि जब प्रदेश में भाजपा सरकार थी तो गौवंश संरक्षण कानून लाई थी अब एक बार फिर हमारी सरकार गौ संरक्षण के लिए काम करेगी। इसके साथ प्रधानमंत्री के विजन गंगा सफाई पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि नमामि गंगे अभियान का मैं संयोजक हूं इस नाते मां गंगा के सफाई पर विशेष ध्यान दिया जाएगा।

उन्होंने कहा कि मेरी सरकार स्वच्छ और पारदर्शी प्रशासन का संकल्प पूरा किया जायेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि पलायन एक गंभीर समस्या है। उत्तराखंड सीमान्त राज्य है और यहाँ पलायन सामरिक दृष्टि से भी बेहद गंभीर है। सेना के लोगों को भी स्थानीय मदद की आवश्यकता होती है। पलायन रोकने के लिए सरकार गंभीर है। इसके लिए देहरादून में बैठक और गोष्टि करेंगे और उसमें इस समस्या का समाधान निकालेंगे। राज्य में ऊद्योगिक पलायन भी गंभीर है इसकी भी समस्या का समाधान तलाशा जायेगा।

उन्होंने कहा कि राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति को भी मजबूत किया जायेगा। इसके साथ ही गढ़वाल और कुमाऊँ को जोड़ने वाली कंडी रोड को खोला जाएगा। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि हमारे राज्य पर 45 हजार करोड़ कर्ज है इसे रोकने के लिए हम गहरा चिंतन करेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि पिछली कांग्रेस सरकार के कामों की समीक्षा रिपोर्ट बनाई जाएगी।