अखिलेश से मिलने को 18 दिन से भटक रही ‘गूगल गर्ल’

लखनऊ। ‘पूत के पांव पालने में ही दिख जाते जाते हैं’- यह कहावत चार साल की ‘गूगल गर्ल’ अनुष्का पर सटीक बैठती है। केजी में पढ़ी रही अनुष्का प्रधानमंत्री नरेंद्र दामोदर मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की मुरीद है, जबकि पूर्व मुख्यमंत्री मायावती को ‘घोटालेबाज’ बताती है। केंद्र व राज्य सरकार की विकास योजनाएं नन्ही अनुष्का की जुबान पर रटी हुई हैं। इतना ही नहीं, देशों के नाम के साथ उनके प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री के नाम, भारत मंत्रिमंडल का डाटा, सामान्य ज्ञान के प्रश्न भी इतनी छोटी से उम्र में उसके जुबान पर रटे हैं। इसलिए इसे ‘गूगल गर्ल’ कहा जाता है।

Google Girl

अनुष्का को उसके चहेते मुख्यमंत्री से मिलाने से लिए उसका परिवार लखनऊ आया है। 18 दिन हो गए, लेकिन उसे अभी तक मुख्यमंत्री से मिलने नहीं दिया गया है। यह छोटी सी बच्ची अपने देश का नाम रोशन करना चाहती है, लेकिन उसके इस सपने पर गरीबी ब्रेक लगा रही है। मासूम के पिता दिलीप कुमार चूड़ी बनाने का काम करके बड़ी मुश्किल से अपने परिवार का भरण-पोषण कर रहे हैं।

दिलीप का कहना है कि उसकी बेटी अनुष्का वैज्ञानिक बनना चाहती है। उसके इसी जज्बे के चलते मुख्यमंत्री से मिलने के लिए वह अपनी पत्नी रीनू देवी और एक दुधमुंहे बच्चे के साथ फिरोजाबाद से लखनऊ आए हैं।

गूगल की तरह है तेज दिमाग : महज चार साल की उम्र में केजी में पढ़ने वाली अनुष्का की काबिलियत का अंदाज इसी बात से लगाया जा सकता है कि उसे सामान्य ज्ञान की हर जानकारी जुबान पर रटी है। कोई भी प्रश्न पूछने पर उसका वह फौरन जबाव देती है।

पीएम और सीएम की है मुरीद : अनुष्का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की मुरीद है। दोनों की योजनाएं उसकी जुबान पर रटी हैं। अखिलेश ने चार साल में क्या-क्या योजनाएं चलाईं कितना विकास किया, इसकी पूरी जानकारी है। साथ ही प्रधानमंत्री की योजनाएं भी उसकी जुबान पर हैं। मायावती को बताया घोटालेबाज : नन्ही सी लड़की से जब सवाल किया गया कि अगले विधानसभा चुनाव में किसकी सरकार बनेगी तो उसका जबाव था- अखिलेश यादव की।

यह पूछने पर कि मायावती की क्यों नहीं, तो उसका जबाव था कि उन्होंने कई घोटाले किए। इनमें एनआरएचएम और स्मारक घोटाला मुख्य है। साथ ही यूपी की जनता माया को पसंद नहीं करती, अखिलेश बहुत अच्छे हैं, इसलिए उनकी ही सरकार बनेगी।