ब्रिटेन में दुष्कर्म पीड़िताओं के लिए पहला मातृत्व क्लीनिक खुला

लंदन। ब्रिटेन ने दुष्कर्म व यौन उत्पीड़न की शिकार महिलाओं के लिए देश के पहले मातृत्व क्लीनिक की शुरुआत की है। मीडिया की शुक्रवार की एक रिपोर्ट से यह जानकारी मिली। बीबीसी की एक रिपोर्ट के मुताबिक, अधिकारियों ने कहा है कि क्लीनिक में विशेष रूप से प्रशिक्षित नर्से, मनौवैज्ञानिकतथा बाल रोग विशेषज्ञ अपनी सेवाएं देंगे। साथ ही अतिरिक्त प्रसव पूर्व सुविधाएं भी मिलेंगी।

Mom

अधिकारियों ने कहा कि लंदन के बार्ट्स हेल्थ एनएचएस ट्रस्ट द्वारा सहसंचालित यह योजना अगर सफल रही, तो इसे ब्रिटेन के अन्य अस्पतालों में भी शुरू किया जा सकता है। बार्ट्स हेल्थ एनएचएस ट्रस्ट के साथ संयुक्त तौर पर क्लीनिक की स्थापना करने वाली ‘माई बॉडी बैक’ परियोजना के निदेशक पवन अमारा ऐसी कई महिलाओं से मिले, जिन्होंने उनसे अपनी गर्भवस्था के दौरान बेहद परेशानी भरे अनुभवों को साझा किया।

बीबीसी के मुताबिक अमारा ने कहा, “एक महिला से उससे दुष्कर्म करने वाले ने कहा था कि यदि तुम सहयोग करोगी, तो यह तुम्हारे लिए अच्छा होगा। जब अस्पताल में यही बात स्वास्थ्यकर्मी महिला से बोलते हैं, तो उन्हें इस बात का पता नहीं होता कि अनजाने में वह महिला को कितनी तकलीफ पहुंचा रहे हैं, स्वास्थ्यकर्मी अनजाने में दुष्कर्मी की बात को दोहरा रहे होते हैं।”

उन्होंने कहा, “इसका महिला पर मानसिक रूप से गहरा प्रभाव पड़ता है। वैसे तो यह छोटी सी बात है, लेकिन पीड़ित महिला के लिए यह बहुत बड़ी बात है।” बीबीसी ने बताया कि आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, इंग्लैंड एवं वेल्स में 16 से 59 आयुवर्ग की पांच में से एक महिला किसी न किसी प्रकार की यौन हिंसा की शिकार हुई है।