पंजाब के अमृतसर में राजासांसी गांव में एक धार्मिक डेरे पर बड़ा विस्फोट, जांच के लिए पहुंची टीम

पंजाब के अमृतसर में राजासांसी गांव में एक धार्मिक डेरे पर बड़ा विस्फोट, जांच के लिए पहुंची टीम

चंडीगढ़। पंजाब के अमृतसर में राजासांसी गांव में एक धार्मिक डेरे पर बड़ा विस्फोट हुआ है। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह, गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कड़ी निंदा व्यक्त की है। वहीं आईजी बॉर्डर ने भी पूरी घटना के बारे में बताया है। इस हमले में 3 की मौत हो चुकी है, जबकि 15 से 20 लोग घायल बताए जा रहे हैं। घायलों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।आईजी बॉर्डर सुरेंद्र सिंह परमार ने कहा कि जिस दौरान हमला हुआ उस समय करीब 250 लोग एक धर्मिक समारोह में हिस्सा ले रहे थे। इस हमले में 3 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि करीब 15 से 20 लोग घायल हो गए। जानकारी के मुताबिक हमलावर इन लोगों पर ग्रेनेड फेंककर फरार हो गए। मामले में जांच के लिए एनआईए की टीम अमृतसर पहुंच गई है।

 

बता दें कि पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने घटना पर दुख जताया है। उन्होंने इस घटना में जान गवां चुके लोगों को पांच लाख रुपए मुआवजा देने की घोषणा की है। साथ ही उन्होंने घायलों का फ्री में इलाज कराने की भी घोषणा की है। गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि अमृतसर में निरंकारी भवन पर हमले ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया है। उन्हों कहा कि हमले का काफी दुखी है। उन्होंने हमले की निंदा करते हुए मृतकों के परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की। वहीं घायलों के जल्द से जल्दी दुरुस्त होने की कामना भी की। राजनाथ सिंह ने कहा कि दोषियों पर सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। साथ ही उन्होंने पंजाब सरकार से भी इस मामले में कड़े कदम उठाने को कहा है।

वहीं उन्होंने पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह से फोन पर बात की और हालात का जयजा भी लिया। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि अमृतसर में ग्रेनेड हमले में निर्दोष लोगों के मारे जाने से वह बहुत दुखी हैं। उन्होंने कहा कि यह एक निंदनीय हिंसक कृत्य है। हमले में अपने प्रियजनों को खो चुके परिवारों के साथ मेरी संवेदनाएं है उन्होंने कहा कि मैं घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की प्रार्थना करता हूं। पंजाब कांग्रेस प्रमुख सुनील जाखड़ ने कहा कि मेरी संवेदना उन लोगों के परिवारों के साथ है जो इस घटना में जीवन खो चुके हैं। उन्होंने कहा कि यह पंजाब में शांति से रह रहे लोगों को परेशान करने का प्रयास है। मेरा मानना है कि सभी सुरक्षा एजेंसियों को सतर्क रहना चाहिए और शांति बनाए रखने के लिए एक-दूसरे के साथ समन्वय करना चाहिए।