हस्तरेखा का ज्ञान करेगा मुश्किलें आसान

नई दिल्ली। आजकल के दौर में हर कोई जानना चाहता है कि उसका आने वाला भविष्य कैसा होगा? उसे काम में कामयाबी मिलेगी या नहीं? इन सब बातों को चलते अक्सर लोग ज्योतिष गुरु की ओर रुख करते है और उनसे अपने भविष्य के बारे में जानने की कोशिश करते है। लेकिन क्या आपको पता है कि आपके हाथ की रेखाएं भी आपके आने वाले भविष्य की ओर इशारा करती है जिसे समझना काफी मुश्किल होता है लेकिन समय-समय पर इनमें फेर बदल भी होता है। तो चलिए आज हम आपको हस्त रेखा को देखने के कुछ आसान से उपाय बताते है जिन्हें देखकर आप किसी का भी हाथ आसानी से देख सकती हैं।

hast_rekha1

हस्त रेखा देखते समय रखें इन बातों का ध्यान:-

किसी भी शिक्षा के जैसे हस्त रेखा को देखने के भी कुछ नियम होते हैं। अगर आप किसी का हाथ देखने जा रहे हैं या किसी को अपना हाथ दिखाने की सोच रहे हैं तो इन बातों को ध्यान में रखें।

-पुरुषों को हमेशा अपना दायाँ और स्त्रियों को अपना बायाँ हाथ दिखाना चाहिए। वर्तमान जीवन की जानकारियाँ दाएँ हाथ से तथा पूर्व-जन्म के कर्म-फल आदि के बारें में बाँए की रेखाओं को देख को दिखाना चाहिए। स्त्रियों को हाथ दिखाते समय इसका विपरीत करना चाहिए।

– कुछ लोग कभी भी हस्त रेखा को दिखाने लग जाते हैं जो कि सही नहीं है। हस्त-परीक्षा के लिए सर्वोत्तम समय सुबह का होता है। इसके अलावा ग्रहण के समय, श्मशान में, मार्ग में चलते समय तथा भीड़-भाड़ में हाथ नहीं देखना चाहिए।

-किसी अन्य व्यक्ति के सामने कभी हाथ नहीं दिखाना चाहिए, और न ही कभी जल्दबाजी में हाथ दिखाना सही होता है।

– अगर किसी रेखा के साथ-साथ कोई और रेखा चले तो वो उस रेखा को मजबूत बनाती है। इसके अलावा कमजोर, दुर्बल अथवा मुरझाई हुई रेखाएँ बाधाओं की सूचक होती हैं जो जीवन में समस्याओं को दर्शाती हैं।

– ऐसी रेखाएँ, जो साफ नहीं दिखती बाधाओं की पूर्व सूचक होती हैं। ये रेखाएँ मन की अस्थिरता और आने वाली परेशानी का संकेत देती हैं।

– अतीव बुद्धि के लोगों का अंगूठा पतला और लंबा होता है। ऐसे व्यक्ति अत्यन्त लचीले स्वभाव के होते हैं और अपने आपको किसी भी परिस्थिति में खुद को ढ़ाल लेते हैं।

– ऐसे व्यक्ति जिनके अंगूठे का ऊपरी भाग बहुत ज्यादा पतला है तो वह व्यक्ति दिवालिया हो जाता है और आर्थिक रूप से बहुत कमजोर होता है। इसके विपरीत अगर अंगूठे का ऊपरी भाग मोटा है तो ऐसे व्यक्ति सदैव दूसरों के अधीन होकर ही रह जाते हैं। यदि नख पर्व गोल हो और अंगुलियां छोटी और हथेली में शनि और मंगल का प्रभाव रहता है तो वो जातक स्वभाव से अपराधी हो सकता है।

– जिन लोगों की कनिष्ठा ऊंगली बहुत छोटी होती है तो ऐसे जातक मूर्ख होते हैं। कनिष्ठा का टेढा होना जातक का अविश्वसनीय होना दर्शाता है।

– जिन व्यक्तियों की हथेली में गहरा गढ़ा हो तो ऐसे जातक अपनी कही हुई बांतो का पालन नहीं कर पाते। ऐसे लोग जीवन मे अत्यंत संघर्ष के द्वारा ही आगे बढ़ पाते हैं।

– हथेली में राहु का प्रभाव होने से व्यक्ति बुरी आदतों का शिकार हो जाता है और मदिरापान कर सकता है या अभक्षण का भी भक्षण कर सकता है।

yogesh-jain-astrologer

योगेश जैन, ज्योतिष गुरु

फोन नं – 9560711993

ई मेल आई डी- yogeshjain1967@gmail.com