अगर धारण करते है गोमेद और लहसुनिया रत्न…तो इन बातों का रखें खयाल

नई दिल्ली। अक्सर आपने किसे के हाथ में अलग-अलग तरीके के रत्नों को पहने हुए देखा होगा और शायद ये इच्छा आपके मन में भी आई होगी कि क्या आप उस रत्न को धारण नहीं सकते? वैसे तो कई प्रकार के रत्न होते है जैसे कि पन्ना, मानिक, मोती इत्यादि लेकिन आज हम आपको एक ऐसे रत्न के बारे में बताने जा रहें है जो राहू और केतु के प्रतीक है। ज्योतिषाचार्य के अनुसार अगर किसी भी रत्न को बिना परामर्श लिए धारण करने से आपके ऊपर प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है। ऐसे ही दो रत्न गोमेद और लहसुनिया है। गोमेद को राहू का तो वहीं लहसुनियां को केतू का रत्न माना जाता है। इसलिए इनको बिना परामर्श के पहनना आपके लिए घातक सिद्ध हो सकता है। यह दोनों रत्न छाया ग्रह के रुप में माने जाते हैं।

ratna

 

किसी भी रत्न का सीधे तौर पर आपकी राशि पर असर पड़ता है। इसलिए इन रत्नों को धारण करने से पहले परामर्श जरुर संपर्क करें।

yogesh-jain-astrologer

योगेश जैन, ज्योतिष गुरु

फोन नं – 9560711993

ई मेल आई डी- yogeshjain1967@gmail.com