ढाका हमले के संदिग्ध को 16 दिनों की न्यायिक हिरासत

ढाका। बांग्लादेश की राजधानी ढाका में स्थित गुलशन कैफे पर गत एक जुलाई को हुए हमले के संबंध में गिरफ्तार एक ब्रिटिश नागरिक को मंगलवार को 16 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। दैनिक अखबार ढाका ट्रिब्यून के मुताबिक, अभियुक्त हसनत करीम को आठ दिनों की पुलिस हिरासत के बाद जब सोमवार को अदालत में पेश किया गया तो महानगर दंडाधिकारी मोहम्मद अहसान हबीब ने उसे न्यायिक हिरासत में भेजने का आदेश दिया।

dhaka

अदालत ने नॉर्थ साउथ युनिवर्सिटी के पूर्व प्राध्यापक हसनत की ओर से दायर जमानत याचिका पर सुनवाई के लिए 24 अगस्त की तिथि तय की।
रपट के मुताबिक, आतंकवाद रोधी और अंतर्राष्ट्रीय अपराध शाखा के निरीक्षक और जांच अधिकारी हुमायूं कबीर ने अदालत से कहा कि हसनत ने आतंकी हमले के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी दी थी, जिसे जांचकर्ता सत्यापित कर रहे हैं। इसलिए जांच पूरी होने तक उसे (हसनत) जेल में रखा जाना चाहिए।

ढाका महानगर पुलिस के उपायुक्त मसूदुर रहमान ने इसके पहले मंगलवार को ही अपने कार्यालय में संवाददाताओं से कहा कि पुलिस हसनत के लिए कुछ दिनों की ताजा हिरासत की मांग नहीं करेगी। उन्होंने कहा, “दो बार की हिरासत के दौरान जो जानकारी हमें मिली, उसकी जांच की जा रही है।” मसूदुर ने आगे कहा कि अगर जरूरत हुई तो कानून लागू करने वाली एजेंसी भविष्य में हिरासत की मांग करेगी।

ढाका कैफे पर हमले के सिलसिले में हसनत की गिरफ्तारी हुई थी। हमले में 22 लोग मारे गए थे, जिनमें 18 विदेशी नागरिक थे। गुलशन कैफे हमले में सुरक्षित बचने वालों में हसनत और कनाडाई विश्वविद्यालय के छात्र तहमीद हसीब को पहले आठ दिनों के लिए हिरासत में लिया गया था। हसनत को पुन: आठ दिनों के लिए हिरासत में लिया गया और दो चरणों में 14 दिनों की हिरासत की अवधि पूरी होने के बाद तहमीद को शनिवार को जेल भेज दिया गया था।