बुलंदशहर हिंसा : सीएम योगी ने बुलाई बैठक, गृह सचिव और एडीजी भी रहेंगे मौजूद

बुलंदशहर हिंसा : सीएम योगी ने बुलाई बैठक, गृह सचिव और एडीजी भी रहेंगे मौजूद

नई दिल्ली: बुलंदशहर के स्याना तहसील के गांव महाव में सोमवार सुबह गोवंश अवशेष मिलने पर पुलिस, हिंदूवादी संगठनों और ग्रामीणों में जमकर टकराव हुआ। गुस्साए ग्रामीणों ने चिंगरावठी चौकी के पास सड़क पर जाम लगा दिया। स्याना थाने के कोतवाल इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह ने मौके पर पहुंचकर जाम खुलवाने की कोशिश की तो ग्रामीणों ने पथराव कर दिया।

भीड़ ने चौकी के बाहर खड़े पुलिस के दर्जनों वाहनों में आग लगा दी। चौकी में घुसकर तोड़फोड़ की और सामान को आग लगा दी। हालात बेकाबू होते देख पुलिस ने हवाई फायरिंग की। इस पर ग्रामीणों ने सुबोध कुमार पर हमला बोल दिया। इस घटना में गोली लगने से कोतवाल सुबोध और एक युवक सुमित की मौत हो गई।

सीएम योगी ने बुलाई बैठक

बुलंदशहर मामले पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने आज रात 9 बजे बैठक बुलाई है। खबर है कि इसमें गृह सचिव और एडीजी भी मौजूद रहेंगे। डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने कहा है कि सरकार दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगी और सरकार इस मामले में उचित कदम उठा रही है।

राज्यपाल ने कहा होगी सख्त कार्रवाई

बुलंदशहर मामले में यूपी के राज्यपाल राम नाइक ने घटना को निंदनीय बताया है। उन्होंने कहा, सीएम ने घटना की जांच का आदेश दे दिया है। मुझे उम्मीद है कि जैसा सीएम ने कहा है सच्चाई दो दिनों में सामने आ जाएगी। जिन्होंने ये अपराध किया है उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। कारण चाहे जो भी रहा हो ऐसी घटनाएं नहीं होनी चाहिए।

अंतिम संस्कार से परिजनों का इंकार

इंस्पेक्टर सुबोध के अलावा बुलंदशहर हिंसा में मारे गए सुमित का शव गांव चिंगरावठी में पहुंच गया था। सुमित के परिजनों ने लिखित में आश्वाशन मिलने के बाद ही अंतिम संस्कार की चेतावनी दी है। परिजनों ने 50 लाख का मुआवजा, सरकारी नौकरी, माता पिता को पेंशन, और मृतक को शहीद का दर्जा देने की मांग की।