इंडिया इंक के तिमाही नतीजे, व्यापक आर्थिक आंकड़ों पर रहेगी नजर

मुंबई| भारतीय कॉरपोरेट कंपनियों के तिमाही आंकड़े पिछले हफ्ते से ही आने शुरू हो गए हैं और अगले हफ्ते भी इन पर निवेशकों की नजर बनी रहेगी। इसके अलावा वैश्विक बाजारों की चाल, विदेशी पोर्टफोलियो निवेशक (एफपीआई), घरेलू संस्थापक निवेशक (डीआईआई), डॉलर के खिलाफ रुपये की चाल, कच्चे तेल की कीमतों से भी निवेशक प्रभावित होंगे। सोमवार को दिवाली छुट्टी के कारण शेयर बाजार बंद रहेंगे। इस दौरान शेयर बाजार मुहुर्त ट्रेडिंग के लिए दिवाली के दिन रविवार को शाम 6.30 से 7.30 तक खुलेंगे।

sensex

निवेशकों की नजर जिन कंपनियों के जुलाई-सितंबर के नतीजों पर रहेंगे उनमें अंबुजा सीमेंट के नतीजे गुरुवार को आएंगे। इसी दिन बर्जर पेंट्स इंडिया, आईसीआरए, एमफेसिस की दूसरी तिमाही के नतीजे, टाइटन, फाइजर और यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के नतीजे आएंगे। ऑटो कंपनियों की बिक्री के मासिक आंकड़े मंगलवार को जारी किए जाएंगे।सार्वजनिक क्षेत्र की तेल कंपनियां इस सप्ताह कच्चे तेल की वैश्विक कीमतों के आधार पर ईंधन कीमतों की समीक्षा करेंगी। तेल कंपनियां यह समीक्षा हर महीने के मध्य और अंत में करती हैं। साथ ही जेट ईधन की कीमतों की मासिक समीक्षा भी इस हफ्ते होगी, जिसके कारण विमानन कंपनियों के शेयरों पर नजर बनी रहेगी। जेट ईधन की कीमतें सीधे तौर पर अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों से जुड़ी है।

व्यापक आर्थिक आंकड़ों में भारत विनिर्माण क्रय प्रबंधक सूचकांक (पीएमआई) के अक्टूबर के आंकड़े मंगलवार को जारी किए जाएंगे। निक्केई भारत उत्पादन पीएमआई सितंबर में गिरकर 52.1 पर था, जबकि यह अगस्त में 52.6 था। अक्टूबर के सेवा क्षेत्र के पीएमआई आंकड़े गुरुवार को जारी किए जाएंगे। सितंबर में यह 52 पर था और अगस्त में यह 43 महीनों के उच्च स्तर पर 54.7 पर था।

वैश्विक स्तर पर अमेरिकी फेड रिजर्व अपनी मौद्रिक नीति को को लेकर बुधवार को बयान जारी करेगा। वहीं, शुक्रवार को अमेरिका के अक्टूबर माह के गैर कृषि वेतन आकंड़े जारी किए जाएंगे। बैंक ऑफ जापान की मौद्रिक नीति मंगलवार को जारी होगी। यूरोजोन के जीडीपी (सकल घरेलू उत्पाद) के आंकड़े सोमवार को जारी किए जाएंगे।