नोटबंदी के बावजूद घरेलू प्रतिभूति बाजार स्थिर: मूडीज

चेन्नई। देश में तेल की कम कीमतों के साथ तेज आर्थिक विकास दर से भारत की वाहन एसेट बेस्ड सिक्युरिटीज (एबीएस) और वाहन ऋण स्थिर रहेंगे। मूडीज इंडिया के मुताबिक, देश में अधिकतर संपत्ति वर्गो में बेहतर कर्ज गुणवत्ता के साथ प्रतिभूति बाजार स्थिर रहेगा।

moodys

मूडीज के वरिष्ठ उपाध्यक्ष यीआन निंग लोह ने कहा, “भारत में नोटबंदी से आर्थिक अव्यवस्था के बीच तेज विकास दर और कच्चे तेल की कम कीमतों से वाहन एबीसी का प्रदर्शन स्थिर रहेगा।”

मूडीज के इन निष्कर्षो को क्षेत्र के लिए हाल ही में जारी किए गए आउठलुक में संग्रहित किया गया है, जिसका शीर्षक : स्ट्रक्चर्ड फाइनेंस – इंडिया, कोरिया और सिंगापुर : 2017 आउटलुक – परफॉर्मेस स्टेबल, क्रेडिट क्वालिटी गुड एक्रॉस मॉस्ट एसेट क्लासेज है।”

मूडीज को उम्मीद है कि भारतीय व्यावसायिक वाहन (सीवी) ऋण दर भी स्थिर रहेगी। हालांकि, नोटबंदी की वजह से डेलिक्वेंसी दर छोटी अवधि के लिए बढ़ेगी, लेकिन 2017 की अवधि के दौरान यह मौजूदा स्तरों पर लौट आनी चाहिए।