क्या हो सकती है नीतीश कुमार की एनडीए में वापसी?

पटना। नोटबंदी के फैसले को लेकर सीएम नीतीश कुमार लगातार पीएम मोदी के फैसले का स्वागत कर रहे है। उन्होने विपक्ष की तरफ से आयोजित भारत बंद में पार्टी के भाग लेने से साफ इनकार किया है। इसके बाद से सियासी गलियारो में लगातार नीतीश कुमार के एनडीए गठबंधन में वापसी को लेकर चर्चाएं गरम हैं। हांलाकि भाजपा के खिलाफ नीतीश कुमार ने ही बिहार चुनाव के पहले महागठबंधन का संयोजन कर चुनावी ताल ठोंकी थी।

nitish-kumar

लेकिन लगातार पीएम मोदी के फैसले की तारीफ में कसीदे पढ़ नीतीश ने अपने महागठबंधन के सहयोगियों को एक बार फिर अचंभित कर दिया है। ऐसे में एनडीए के घटक दलों में भी नीतीश कुमार के जदयू के आने की बातों की सुगबुगाहट होने लगी है। एनडीए के घटक दल लोजपा के 17 वे में स्थापना दिवस पर पार्टी के अध्यक्ष रामविलास पासवान ने कहा कि एनडीए में नीतीश के जाने का फैसला घटक दल की सबसे बड़ी पार्टी बीजेपी को लेना है। जो कि अमित शाह और पीएम मोदी को करना है।

उन्होने कहा कि अगर नीतीश घर वापसी करते हैं तो इससे एनडीए को और मजबूती मिलेगी। उन्होने कहा कि जनता दल में आपसी विरोध की स्थिति है ऐसे में नीतीश कुमार को पार्टी के स्तर पर अब कोई बड़ा और सख्त फैसला लेना होगा। नोटबंदी पर सीएम नीतीश कुमार ने जिस तरह से आगे बढ़ कर पीएम मोदी के फैसले का समर्थन किया है, उसके लिए वो बहुत ही बधाई के पात्र हैं।