बिहार में 500, 1000 के नोट बंद होने से लोग परेशान

पटना। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा मंगलवार की रात को 500 और 1,000 रुपये के नोट 12 बजे रात के बाद अवैध घोषित किए जाने की घोषणा के बाद पटना सहित बिहार के अन्य क्षेत्रों में एटीएम और पेट्रोल पंपों पर भीड़ लगी रही। बुधवार को भी पेट्रेल पंप पर लंबी कतार लगी है। इधर, यात्रियों केा भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा 500 और 1000 रुपये के नोट को अवैध घोषित किए जाने के एक दिन बाद बुधवार को भी लोगों की परेशानी कम नहीं हुई है। पटना रेलवे स्टेशन पर टिकट घर के सामने एक घंटे से ज्यादा समय तक पंक्ति में रहने के बाद भी गया के पवन कुमार को टिकट नहीं मिल पाया।

bihar

पवन आईएएनएस से कहते हैं, “मेरे पास 500 का नोट है और टिकट काउंटर के कर्मचारी के पास खुदरा पैसा नहीं है। रेलवे कर्मचारी ने कह दिया कि खुले (खुदरा ) पैसे लेकर आइए। अब मैं कहां जाऊं? 500 रुपये का खुला कौन देगा?” इसी तरह पेट्रोल पंपों का भी हाल है। पेट्रोल पंप के कर्मचारी खुले पैसे नहीं दे रहे। ऐसे में जिन्हें 100-200 रुपये का पेट्रोल लेना है, उन्हें भी 500 रुपये का पेट्रोल और डीजल लेना पड़ रहा है।

पेट्रोल पंप पर बाइक में पेट्रोल भरवाने आए पटना के राजा बाजार के मुकुंद सिंह कहते हैं कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का यह फैसला सही है। परंतु इसके लिए पूरी तैयारी की जानी चाहिए थी। वे कहते हैं कि अब पेट्रोल पंप में अगर 500 रुपये के नोट लेकर पेट्रोल भरवाने आए हैं, तो या तो 500 रुपये का पेट्रोल लेना होगा या तो फिर खुले पैसे का इंतजर करना होगा। उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री द्वारा मंगलवार की रात 500 और 1000 रुपये के नोट प्रचलन से बंद किए जाने की घोषणा के तत्काल बाद लोग घरों से एटीएम की ओर निकल गए और अगले दिन के खर्चे के लिए पैसे निकालने में जुट गए। देखते ही देखते सभी एटीएम पर लोगों की भारी भीड़ जुट गई।

इधर, राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के प्रदेश अध्यक्ष रामचंद्र पूर्वे का भी कहना है कि केंद्र सरकार का यह फैसला सही है, परंतु इसके लिए लोगों को और समय देना चाहिए। उन्होंने कहा कि जिनके पास 500 और 1000 रुपये के नोट हैं, वे ऑटो तक से यात्रा नहीं कर पा रहे। ऑटो वाले भी उनसे खुले पैसे की मांग कर रहे हैं। उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने काले धन पर लगाम लगाने के लिए अचानक सख्त कार्रवाई करते हुए मंगलवार को 500 और 1,000 रुपये के नोटों को मंगलवार मध्यरात्रि से अवैध घोषित कर दिया।