‘पाग’ को ऑक्सफोर्ड डिक्शनरी में स्थान देने की मांग

पटना| बिहार के मिथिला क्षेत्र में सम्मान के प्रतीक ‘पाग’ को अब ऑक्सफोर्ड डिक्शनरी में स्थान देने की मांग उठने लगी है। मिथिलालोक फाउंडेशन के संस्थापक बीरबल झा ने इसके लिए ऑक्सफोर्ड डिक्शनरी प्रशासन से संपर्क साधा है और उन्हें पाग को डिक्शनरी में जगह देने के लिए पत्र लिखा है। मिथिलालोक फाउंडेशन के अध्यक्ष डॉ. बीरबल झा ने शुक्रवार को आईएएनएस को बताया, “सम्मान के प्रतीक ‘पाग’ को ऑक्सफोर्ड डिक्शनरी में स्थान देने के लिए ऑक्सफोर्ड डिक्शनरी प्रशासन से संपर्क साधा गया है।

paag

ऑक्सफोर्ड डिक्शनरी प्रशासन ने सकारात्मक जवाब दिया है। अगर सबकुछ ठीक रहा तो बहुत जल्द ऑक्सफोर्ड डिक्शनरी के प्रिंट और ऑनलाइन वर्जन में पाग नजर आ सकता है।पाग बिहार के मिथिलांचल में रहने वाले लोगों के लिए सिर को ढकने का परिधान है तथा यह लोगों के सम्मान से भी जुड़ा है। इस क्षेत्र में किसी को सम्मान करना होता है तो उनके मस्तक पर पाग पहनाया जाता है।देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू, पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी पाग से सम्मानित किया जा चुका है।

उल्लेखनीय है कि मिथिलालोक संस्था की तरफ से ‘पाग बचाओ अभियान’ के तहत दिल्ली समेत कई शहरों में पैदल मार्च का आयोजन किया गया है। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में इस अभियान के तहत करीब 500 प्रवासी मैथिलों ने सिर पर पाग पहनकर सड़कों पर मार्च किया था। झा का कहना है कि पगड़ी जैसे शब्दों के साथ पाग को ऑक्सफोर्ड डिक्शनरी में जगह मिलना वाकई में मिथिला क्षेत्र के लोगों के लिए किसी सौगात से कम नहीं होगा।