बिहार में महिला सहायक अभियंता को जिंदा जलाया

मुजफ्फरपुर। बिहार के मुजफ्फरपुर जिले के अहियापुर थाना क्षेत्र में एक महिला सहायक अभियंता को कुर्सी से बांधकर जिंदा जलाने का मामला प्रकाश में आया है। महिला सहायक अभियंता (जेई) जिले के मुरौल प्रखंड में कार्यरत थी। पुलिस के अनुसार, सहायक अभियंता सरिता देवी पिछले दो वर्षो से बजरंग विहार कॉलोनी में विजय कुमार गुप्ता के मकान में रहती थी। सोमवार को सरिता देवी की हत्या जिंदा जलाकर हत्या कर दी गई। मकान मालिक विजय कुमार की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची।महिला का शरीर बुरी तरह से जला हुआ था सिर्फ हड्डियां ही मिली। पुलिस का कहना है कि एफएसएल टीम भी मौके पर पहुंच गई है।

death

 

पुलिस के अधिकारी पहली नजर में इस मामले को हत्या का मामला मान कर जांच कर रही है। महिला की मां कुसुम देवी ने चप्पल देखकर बेटी के शव की शिनाख्त की। पुलिस को शक है कि शरीर जलाने के लिए किसी रसायन का भी इस्तेमाल हुआ है। महिला ने सुसाइड नोट में अपनी मां से बच्चों का ख्याल रखने की बात कही है। सरिता मूल रूप से सीतामढ़ी जिले के कन्हौली थाना के फुलकाहां की रहने वाली थी। पिछले तीन साल से मुरौल प्रखंड में जेई के पद पर कार्यरत थी। मुजफ्फरपुर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक विवेक कुमार ने मंगलवार के बताया कि पुलिस उपाधीक्षक (नगर) के नेतृत्व में इस मामले की जांच के लिए एक विशेष जांच टीम का गठन कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि पुलिस इस मामले में कई लोगों से पूछताछ कर रही है। पुलिस ने एक शख्स को हिरासत में लिया है।

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि सहयक अभियंता का पति विजय सिंह गांव में ही रहता है जबकि महिला अभियंता एक बेटे के साथ यहां रहती थी, वारदात वाले दिन एक बेटा नानी के घर था जबकि दूसरा बेटा दरभंगा में पढ़ाई करता है। पुलिस यह भी आशंका जता रही है कि महिला जेई की अन्य जगह हत्या कर दी गई हो और साक्ष्य छिपाने की नियत से यहां लाकर उसे जला दिया गया। (एजेंसी इनपुट सहित)