बिहारः NDA में सीट शेयरिंग को लेकर मचे विवाद के बीच ‘लोजपा’ ने उपेंद्र कुशवाहा पर साधा निशाना

बिहारः NDA में सीट शेयरिंग को लेकर मचे विवाद के बीच ‘लोजपा’ ने उपेंद्र कुशवाहा पर साधा निशाना

बिहार में जारी राजनीतिक उठापटक और उपेंद्र कुशवाहा के एनडीए का साथ छोड़ने की चर्चा के जोरों पर है। जिसकों लेकर लोजपा (लोक जनशक्ति पार्टी) ने कुशवाहा पर निशाना साधा है। लोजपा संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष चिराग पासवान ने बीते दिनों केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा की आरजेडी नेता तेजस्वी यादव से मुलाकात का जिक्र करते हुए कहा कि उनको तय करना चाहिए कि क्या उन्हें एनडीए में बने रहना है या नहीं।

 

 

चिराग पासवान ने कहा, ‘समयसीमा तय कर और प्रधानमंत्री के सिवाय किसी और से बात नहीं करने का रुख अपना कर आप दबाव की रणनीति का सहारा ले रहे हैं।जिराग पासवान ने कहा कि वह मुख्यमंत्री के खिलाफ बोल रहे हैं।आप गठबंधन का हिस्सा रहते हुये एनडीए के घटकों के खिलाफ नहीं बोल सकते हैं। इसको पासवान ने दो नावों में सवारी के जैसा बताया है। मालूम हो कि बिहार में एनडीए के घटक दलों के बीच 2019 के लोकसभा चुनावों के लिए सीटों की संख्या पर अभी भी स्थिति साफ नहीं है।

बता दें कि उपेंद्र कुशवाहा ने बिहार में एनडीए सहयोगियों के बीच सीटों के बंटवारे को अंतिम रूप देने के लिए 30 नवंबर तक का समय दिया है। कुशवाहा ने कहा है कि 2019 के लोकसभा चुनाव के लिए राजग ने उनकी पार्टी को जितनी सीटों का प्रस्ताव दिया वो सम्मानजनक नहीं है। पिछले दिनों रालोसपा मुखिया और केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा ने स्पष्ट कहा था कि सीट बंटवारे के मुद्दे पर वह बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से मिलने की जगह सिर्फ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करेंगे। कुशवाहा ने चेतावनी दी कि अगर सीट शेयरिंग फार्मूले पर सहमति नहीं बनी।आगामी 2019 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी के नेतृत्व वाले एनडीए को बड़ी कीमत चुकानी पड़ेगी।

इसे भी पढ़ेःहरिद्वार: पतंजलि योगपीठ में आचार्यकुलम का अमित शाह ने किया उद्घाटन

कुशवाहा ने एक प्रेस कांफ्रेंस में नीतीश कुमार के कथित नीच वाले बयान को लेकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि अब पार्टी ऊंच-नीच विरोध दिवस भी मनाएगी। कुशवाहा मे कहा कि नीतीश सरकार में कानून व्यवस्था की स्थिति बदहाल होती जा रही है। मगर सरकार हाथ पर हाथ धरे बैठी है।

नीतीश कुमार सरकार से अपराध की घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिए जल्द ही ठोस कदम उठाने की मांग की है।उपेंद्र कुशवाहा ने आरोप लगाया था कि उनकी पार्टी को तोड़ने की कोशिश की जा रही है।इसका ठीकरा उन्होंने नीतीश कुमार पर फोड़ते हुए कहा कि इसके लिए नीतीश कुमार सीधे ज़िम्मेदार हैं।कुशवाहा ने कहा कि खुद मुख्यमंत्री पार्टी नेताओं को प्रलोभन दे रहे हैं ये घृणित काम हैं।नीतीश कुमार को ऐसी कोशिशों से बाज आना चाहिए।

कुशवाहा ने कहा कि सीट बटवारे को लकर लगातार कोशिश की है।उन्होंने कहा कि हमारी बात भूपेन्द्र यादव से हुई और उनके स्तर से जो सीट संख्या ऑफर की गई उसे पार्टी की बैठक में ठुकरा दिया गया है। कुशवाहा ने कहा कि इस महीने के अंत तक सीट शेयरिंग पर बातचीत कर समाधान करने की कोशिश करेंगे। कुशवाहा ने कहा कि वह अमित शाह से बात नहीं करेंगे।कोशिश होगी कि पीएम से मुलाकात करके सीट शेयरिंग का समाधान निकाला जाए।

महेश कुमार यादव