कांटों का ताज पहन अखिलेश ने लिखी प्रदेश में विकास की इबारत

लखनऊ। प्रदेश में सियासी पारा लगातार गरम है। विधान सभा चुनावों को लेकर हर पार्टियां अपने-अपने तरीकों से जनता के बीच जाकर अपनी घोषणाएं और विकास की परियोजनाओं की बातें कर रही हैं। प्रदेश की समाजवादी पार्टी की अखिलेश सरकार लगातार विकास के कामों को लेकर विपक्षी पार्टियों के निशाने पर है ।

akhilesh-to-mayawati-people-are-not-forgotten-bjp-bsp-rakhi-love

विपक्षी दलों का आरोप है कि प्रदेश में अखिलेश यादव के नेतृत्व की सरकार जनता के विकास के कामों से दूर केवल पैसों की बंदरबांट में लगी हुई है। लेकिन अगर आंकड़ो की सच्चाई पर गौर किया जाये तो अखिलेश सरकार में प्रदेश के विकास की नई इबारत लिखी गई है।

चुनौतियां भरा था कांटों का ताज
साल 2012 में जब य़ुवा चेहरे के तौर पर समाजवादी पार्टी ने प्रदेश में चुनाव लड़ा तो पूर्ण बहुमत से सपा की सरकार प्रदेश में आई। अखिलेश यादव प्रदेश के नये व युवा मुख्यमत्री के तौर पर सामने आये । कांटों भरा ताज अखिलेश ने अपने सिर पहन कर नये जोश के साथ प्रदेश में विकास का खाका खींचना शुरू किया तो विरोधियों की जुबान सिल गई। नये तौर तरीकों इरादों से युवा मुख्यमंत्री लगातार प्रदेश में एक के बाद एक पहले अपने चुनावी घोषणा-पत्र में किए गये वादों को पूरा करने में दिलो-जान से जुट गये ।

जनता के लिए देखे थे सपने
इसके बाद प्रदेश की आधारभूत समस्यों की एक सूची बना उनके निराकरण के लिए अधिकारियों के साथ रात-दिन लगे रह कर समीक्षा करते हुए। जनता के आधारभूत सुविधाओं के लिए योजनाओं को बनाते हुए उनके अनुपालन के दिशा निर्देश अधिकारियों के देते हुए लगातार उनकी समीक्षा में जुट गये लिहाजा । जो सपने अखिलेश यादव ने 2012 के चुनावों के दौरान प्रदेश के लिए देखे उसको पूरा करने में काफी हद तक सफल रहे ।

बतौर मुख्यमंत्री लोगों की पहली पसंद
माननीय अखिलेश यादव को बतौर मुख्यमंत्री जनता की पहली पसंद बताते हुए सरकार में बतौर राज्यमंत्री मो.अब्बास ने कहा कि माननीय मुख्यमंत्री जी का सीधा जुड़ाव जनता से है। एक वाकिया था जब सीएम अपने दौरे से जा रहे थे उस वक्त प्रदेश में समाजवादी एंबुलेस की घोषणाएं नहीं हुई थी एक हादसा हो गया तुरंत आननःफानन में मुख्यमंत्री ने अपने काफिले की गाडियों से घायलों को अस्पताल पहुंचाया और फिर समादवादी एंबुलेंस की घोषणा की कवायद शुरू की । ऐसे कई वाकिये है जो कि उन्हें सीधे जनता से जोड़ते हैं। उनकी साफ स्वच्छ छवि के चलते ही जनता उन्हें फिर एक बार 2017 के चुनाव में मौका देना चाह रही है।

akhilesh

अखिलेश यादव ने बतौर मुख्यमंत्री प्रदेश में कई सारी विकास की योजनाओं को शुरू किया और प्रदेश में विकास की जो इबारत खींची है, उसे देखकर लग रहा है। मेरा प्रदेश बदला है मेरा आज और कल संवर रहा है। आईये एक संक्षिप्त बानगी पर नजर डालते हैं मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने अब तक जो जिन कामों के जरिए प्रदेश का कायाकल्प करने की शुरूआत की है।

अगले पेज पर पढ़ें 4 वर्षों में अखिलेश ने क्या-क्या किया

Pages: 1 2