ट्रैक पर दौड़ी अखिलेश के सपनों की मेट्रो

लखनऊ। सूबे के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने अपने बहु प्रतीक्षित प्रोजेक्ट लखनऊ मेट्रो का आज औपचारिक उद्घाटन कर दिया है। आज ट्रांसपोर्टनगर पहुंचे सीएम अखिलेश ने कंट्रोल सिस्टम का निरीक्षण किया। इसके बाद सीएम अखिलेश यादव ने मेट्रो के ट्रायल रन का उद्घाटन किया ।

lucknow-matro1

मुलायम ने की औपचारिक शुरूआत
इस अवसर पर सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह ने दीप प्रज्जवलित कर किया। सीएम अखिलेश यादव की बहु प्रतीक्षित इस परियोजना का आज शुभारम्भ हो गया। इस मौके पर सांसद डिंपल यादव,शिवपाल यादव,मुख्य सचिव राहुल भटनागर,आजम खां भी मौजूद रहे। इस दौरान मेट्रो के 4 कोचों का 6 किलोमीटर ट्रायल रन किया जायेगा। प्रथम चरण में ट्रांसपोर्ट नगर से मवैया तक ट्रायल रन चलेगा। लखनऊ की मेट्रो को इलाहाबाद की प्राची और प्रतिभा ट्रायल रन में चलाएंगी । सांसद डिंपल यादव ने दोनों महिला पायलट को मेट्रो की चाबी सौंपी ।

lucknow-matro3

समाजवादी पार्टी की सरकार में हुआ विकास
इस अवसर पर बोलते हुए मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि मेट्रो कोर्पोरेशन से जुड़े सभी लोगों का अभिवादन है। समय से काम पूरा करने पर मेट्रो कोर्पोरेशन को मेरे तरफ से बहुत-बहुत बधाई। मेट्रोमैन श्रीधरन का भी शुक्रिया है। कम समय में काम पूरा कर उदाहरण दिया,मेट्रो शुरू होने से जाम की समस्या से निजात मिलेगी । सीएम अखिलेश ने कहा कि समाजवादी पार्टी की सूबे में सरकार ने लगातार विकास के कामों को बढ़ाया है। मेट्रो-एक्सप्रेस-वे से उत्तर प्रदेश की तरक्की होगी। लोहिया आवास,जनेश्वर ग्राम से गांवों का विकास किया गया है। प्रदेश समाजवादी सरकार की सरपरस्ती में लगातार बढ़ता जा रहा है।

lucknow-matro2

माया पर आजम का तंज
इस अवसर पर सूबे के नगरीय विकास मंत्री आजम खां ने कहा कि नेता जी के डर से मेट्रो का काम तेजी से हुआ है। ये मेट्रो लखनऊ से अब रामपुर तक जायेगी। समाजवादी सरकार में विकास का सूबे में नया चेहरा दिखाया है। आजम खां का मायावती पर तंज भी कसा उन्होने माया के मेट्रो वाले बयान पर जबाब देते हुए कहा कि अखिलेश अगर बबुआ हैं तो गोद में बैठा लें माया ।

एक नजर सीएम अखिलेश के मेट्रो सफर पर

सितंबर 2008 : डीएमआरसी ने सरकार को मेट्रो का खाका दिया था
अक्टूबर 2008 : एलडीए ने मेट्रो रेल प्रोजेक्ट को दी थी झंडी
फरवरी 2009 : एलडीए व डीएमआरसी के बीच एग्रीमेंट हुआ।
जून 2009 : डीएमआरसी ने बेंगलूर बेस कंपनी से लखनऊ का ट्रैफिक प्लान समझा।
अप्रैल 2010 : ट्रैफिक व परिवहन की रिपोर्ट डीएमआरसी को पेश की
जून 2010 में डीएमआरसी ने रूट एलाइनमेंट सबमिट किया
अगस्त 2010 : डीएमआरसी ने विस्तृत रूट प्लान दिया।
सितंबर 2010 : मंडलायुक्त को डीएमआरसी ने फिर रूट प्लान दिया
जून 2013 : सीएम अखिलेश यादव के कैबिनेट ने मेट्रो को क्लीयरेंस दिया
अगस्त 2013 : यूपी सरकार ने डीपीआर को स्वीकृति दी।
कॉरपोरेशन नाम पड़ा और दिसंबर से काम शुरू करने के निर्देश
नवंबर 2013 : पहले फेस का काम
फरवरी 2017 तक करने को कहा गया
दिसंबर 2013 : केंद्र सरकार ने सैद्धांतिक सहमति दी
फरवरी 2014 : मेट्रो मैन इंजीनियर श्रीधरन को मुख्य सलाहकार चुना गया
अगस्त 2014 : प्रबंध निदेशक कुमार केशव ने किया ज्वाइन
सितंबर 2014 : मेट्रो काम का शुभारंभ मुख्यमंत्री यादव ने किया
नवंबर 2014 को फ्रांस की कार्यदायी संस्था सिस्ट्रा ने मेट्रो के आठों स्टेशनों के लिए किया सर्वे
नवंबर 2014 : मेट्रो को एलडीए, आवास विकास व यूपी सरकार से मिले 107.16 करोड़
13 नवंबर 2014 : मेट्रो ने सड़कों पर तैनात करवाएं मार्शल
21 नवंबर 2014 : मख्य सचिव व मेट्रो अध्यक्ष ने हर सोमवार को बैठक लेने का निर्णय किया
24 नवंबर 2014 : सिस्ट्रा कंपनी ने स्टेशनों की डिजाइन में सुधार करके प्रजेंटेशन दिया।
3 दिसंबर 2014 : विदेशी बैंक से 3508 करोड़ लोन की प्रक्रिया तेज
2 फरवरी 2015 : चारबाग मेट्रो स्टेशन का काम शुरू
1 अप्रैल 2015 : 23 किमी. रूट पर ट्रैक्शन कार्य को क्लीयरेंस
7 अप्रैल 2015 : 80 कोचों का टेंडर हुआ
6 मई 2015 : स्टेशनों की डिजाइन पर काम शुरू
7 सितंबर 2015 : कोच बनाने का काम मिला एलस्टॉम कंपनी को
9 मई 2016 : मेट्रो कोच का थ्री डी प्रजेंटेशन
1 अगस्त 2016 : भूमिगत स्टेशन बापू भवन पर काम शुरू।
7 नवंबर 2016 : रायबरेली रोड स्थित वृंदावन में कास्टिंग का काम शुरू
19 नवंबर 2016 : लखनऊ पहुंचे मेट्रो के कोच
29 नवंबर 2016 : मेट्रो कोचों का ट्रायल
1 दिसंबर 2016 : सीएम मेट्रो ट्रायल रन

piyush-shukla(अजस्रपीय़ूष)