बुलंदशहर हिंसा: एडीजी का दावा, इलाके में है पूरी तरह शांति, मुख्य आरोपी अभी भी फरार

बुलंदशहर हिंसा: एडीजी का दावा, इलाके में है पूरी तरह शांति, मुख्य आरोपी अभी भी फरार

नई दिल्ली: बुलंदशहर हिंसा के दूसरे दिन एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) आनंद कुमार ने प्रेस कांफ्रेंस कर घटना की पूरा जानकारी दी. उन्होंने दावा किया कि अब इलाके में पूरी तरह शांति है. एडीजी ने बताया कि इस मामले में अब तक चार लोगों गिरफ्तार किए गए हैं, उनके नाम चमन, देवेंद्र, आशीष और सतीश है.

मुख्य आरोपी योगेश राज अब भी फरार 

उन्होंने बताया कि मुख्य आरोपी योगेश राज अब भी फरार है और उसकी तलाश की जा रही है. उन्होंने साफ किया है कि घटना की जांच हो रही है और दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. एडीजी का कहना था कि इलाके में शांति है, लेकिन हालात पर नजर रखने के लिए भारी संख्या में पुलिसबल को तैनात किया गया है.

मामले की होगी एसआईटी जांच

इस घटना के पीछे कौन है, इस सवाल के जवाब में एडीजी का कहना है कि अभी किसी संगठन का नाम सामने नहीं आया है. पूरे मामले में जांच की जा रही है. एडीजी ने कहा कि इस घटना को किसी का फेलियर बताना जल्दबाजी होगी, एसआईटी की जांच के बाद ही ये पता चल पाएगा कि इसमें किसी की गलती थी या नहीं.

उन्होंने कहा कि जांच पूरी होने तक किसी भी पुलिसकर्मी के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जाएगी. एडीजी ने बताया कि IG रेंज की अध्यक्षता में एसआईटी का गठन किया गया है. गौवंश काटने और मारपीट के मामले पर एसआईटी जांच करेगी.

उन्होंने कहा कि अगर ये घटना किसी की साजिश है तो उसकी भी जांच की जाएगी. किसी भी हालत में दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा. हिंसा में मारे गए स्थानिय युवक सुमित के बारे में उन्होंने कहा कि सुमित का पोस्टमॉर्टम पूरा हो गया है और उसके शरीर से एक गोली भी मिली है. गोली कितने बारे की है इसकी जांच की जा रही है. बता दें कि इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की हत्या मामले में पुलिस ने अब तक चार लोगों को गिरफ्तार किया है. इस बीच एसआईटी ने भी घटनास्थल का दौरा किया है.