जीतकर भी सचिन के बेटे ‘अर्जुन’ से हारा कलयुग का ‘एकलव्य’ प्रणव !

नई दिल्ली। क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर के बेटे अर्जुन तेंदुलकर का चयन हुबली में 24 मई से होने वाली अंतर क्षेत्रीय टूर्नामेंट में पश्चिम क्षेत्र की अंडर-16 टीम में किया गया है। 6 जून तक चलने वाले इस टूर्नामेंट में सेलेक्शन की खबर ज्यादा सुर्खियों में इसलिए हैं क्योंकि एक पारी में 1000 रन बनाने प्रणव धनावड़े का इस टीम में चयन नहीं हुआ।

Pranav Dhanvade

प्रणव की जगह अर्जुन के सिलेक्शन को लेकर सोशल मीडिया पर लोग अपना गुस्सा जता रहा है। यह गुस्सा इसलिए है क्योंकि अर्जुन का सिलेक्शन होने की वजह से एक पारी में एक हजार रन बनाकर छा जाने वाले प्रणव धनवाडे का सिलेक्शन नहीं हुआ। प्रणव अपनी इस रिकॉर्ड पारी से इंटरनेशनल लेवल पर फेमस हो गए थे। सचिन ने खुद खुद प्रणव को अपने ऑटोग्राफ वाला बैट गिफ्ट किया था। प्रणव की जगह अर्जुन के सिलेक्शन को लेकर लोगों के मन में कई सवाल हैं जिनका जवाब दिया जाना बाकी है।

Arjun Tendulkar

आपको याद दिला दें कि प्रणव वहीं हैं जिसने जनवरी में स्कूली क्रिकेट में 1009 रन की पारी खेली थी। प्रणव के पिता ऑटो चलाते हैं।

वहीं सचिन के बेटे के सिलेक्शन पर कई लोग सफाई देते हुए कह रहे हैं कि प्रणव ने 10 साल के बच्चों के साथ छोटे से मैदान में इतने रन मारे थे। वहीं सचिन के बेटे ने U-16 के मैच में शतक जमाने के साथ-साथ 6 विकेट भी लिए थे।