प्लॉट के नाम पर दारोगा से ठगे ढाई लाख

अप्रैल। जमीनों की धोखाधड़ी में जुटे ठग गिरोह ने अब पुलिस को भी अपने निशाने पर ले लिया है। गणेशपुर में एक दारोगा से प्लाट के नाम पर ढाई लाख रुपये की ठगी किए जाने का मामला सामने आया है। रकम लेकर दूसरे की जमीन का आरोपितों ने दारोगा को बैनामा कर दिया। पीड़ित दारोगा ने मामले की तहरीर पुलिस को दी है।

पुलिस के अनुसार मुकेश कुमार उत्तर प्रदेश पुलिस में दारोगा है। फिलहाल मुजफ्फरनगर में उसकी तैनाती है। लगभग एक साल पूर्व दारोगा मुकेश की मुलाकात रूड़की के कुछ प्रापर्टी डीलरों से हो गई। कई बार मुलाकात होने के बाद मुकेश ने डीलरों के सामने प्लाट खरीदे जाने की बात रखी। इस पर आरोपित डीलरों ने मुकेश को गणेशपुर में एक प्लाट पड़ा होने की बात बताई। प्लाट देखने के बाद इसका सौदा तय हो गया। इसमें ढाई लाख रुपये मुकेश ने पेशगी के तौर पर आरोपितों को दे दिए। कुछ दिनों बाद आरोपितों ने प्लाट के बैनामे की बात कही।

रकम लेने के बाद आरोपितों ने पीड़ित से किनारा कर लिया। महिनों गुजरने के बाद पीड़ित ने आरोपितों से बैनामे को कहा। इसमें पहले तो आरोपित टरकाने का प्रयास करने लगे। दबाव पड़ने पर आरोपितों ने दूसरे के प्लाट का पीड़ित को बैनामा कर दिया। बैनामे के बाद प्लाट पर कब्जा लेने पहुंचे मुकेश को प्लाट दूसरे का मिला। इस पर उसने आरोपितों से शिकायत की। इसे लेकर आरोपितों ने उलटा पीड़ित को ही धमकाना शुरू कर दिया। इससे परेशान मुकेश आज सुबह कोतवाली गंगनहर पहुंच गया। एसएसआई समर चंद वर्मा ने बताया कि मामले में तहरीर मिली है। जिसके आधार पर जांच कराई जा रही है।